lal kila history in hindi

lal kila history in hindi
LAL KILA

lal kila history in hindi

LAL KILA  –  लाल किला 1857 तक तकरीबन 200 सालो तक मुगल साम्राज्य का निवास स्थान था। लाल किला / Red Fort दिल्ली में है। मुगल शासनकाल में लाल किला मुख्य किले के रूप में था, ब्रिटिशो के लगभग सभी कार्यक्रम लाल किले में ही होते थे।

लाल किले का निर्माण 1648 में पाँचवे मुगल साम्राज्य शाहजहाँ ने अपने महल के रूप में बनवाया था। लाल किला पूरी तरह से लाल पत्थरो का बना होने के कारण उसका नाम लाल किला पड़ा।

THE RED FORT


1546 में इस्लाम शाह सूरी द्वारा बनाये सलीमगढ़ किले की तरह ही लाल किले का भी निर्माण किया गया था। इस खुबसूरत किले में रंगमंच की कतारे बनी हुई है जो पानी के चैनल से जुडी हुई है और यह नहर-ए-बहिश्त कहा जाता है।

यह किला मुग़ल शासक शाहजहाँ के शासनकाल की रचनात्मकता का प्रतिनिधित्व करता है। मुस्लिम परंपराओ और प्रतिमानों के अनुसार ही इस किले का निर्माण किया गया था। लाल किले में हमें मुस्लिम महलो की प्रतिकृतिया दिखाई देती है, साथ भी लाल किले में हमें पर्शियन परंपराओ की छवि भी दिखाई देती है।

किले के बाहर एक मनमोहक गार्डन भी है लेकिन लाल किले में बना गार्डन हमें दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, कश्मीर, ब्रज और रोहिलखंड के गार्डन से थोडा अलग दिखाई देता है। सलीमगढ़ किले के साथ ही लाल किले को भी 2007 में यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साईट में शामिल किया गया था।

स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल किले के मुख्य द्वार पर तिरंगे को फहराते है और एक भाषण भी देते है।

                                              REAL STRUCTURES   


  1. नक्करख़ाना -  लाहौर गेट से चट्टा चौक तक आने वाली सड़क से लगे खुले मैदान के पूर्वी ओर नक्कारखाना बना है। यह संगीतज्ञों हेतु बने महल का मुख्य द्वार है। 

  1. दीवान-ए-आम -इस गेट के पार एक और खुला मैदान है, जो कि मुलतः दीवाने-ए-आम का प्रांगण हुआ करता था। दीवान-ए-आम। यह जनसाधारण हेतु बना वृहत प्रांगण था। एक अलंकृत सिंहासन का छज्जा दीवान की पूर्वी दीवार के बीचों बीच बना था। यह बादशाह के लिये बना था और सुलेमान के राज सिंहासन की नकल ही था।
    lal kila history in hindi
    दीवाने-ए-आम

3 .नहर-ए-बहिश्त -  राजगद्दी के पीछे की ओर शाही निजी कक्ष स्थापित हैं। इस क्षेत्र में, पूर्वी छोर पर ऊँचे
           चबूतरों पर बने गुम्बददार इमारतों की कतार है, जिनसे यमुना नदी का किनारा दिखाई पड़ता है। ये                  मण्डप एक
         छोटी नहर से जुडे़ हैं, जिसे नहर-ए-बहिश्त कहते हैं, जो सभी कक्षों के मध्य से जाती है। किले के पूर्वोत्तर             छोर पर बने शाह बुर्ज पर यमुना से पानी चढा़या जाता है, जहाँ से इस नहर को जल आपूर्ति होती है। इस            किले का परिरूप कुरान में वर्णित स्वर्ग या जन्नत के अनुसार बना है। यहाँ लिखी एक आयत कहती है,
          यदि पृथ्वी पर कहीं जन्नत  है, तो वो यहीं है, यहीं है, यहीं ह
 
           महल की योजना मूलरूप से इस्लामी रूप में है, परंतु प्रत्येक मण्डप अपने वास्तु घटकों में हिन्दू                         वास्तुकला को प्रकट करता है। लालकिले का प्रासाद, शाहजहानी शैली का उत्कृष्ट नमूना प्रस्तुत करता               है।

4. ज़नाना -महल के दो दक्षिणवर्ती प्रासाद महिलाओं हेतु बने हैं, जिन्हें जनाना कहते हैं: मुमताज महल, जो              अब संग्रहालय बना हुआ है, एवं रंग महल, जिसमें सुवर्ण मण्डित नक्काशीकृत छतें एवं संगमर्मर सरोवर               बने हैं, जिसमें नहर-ए-बहिश्त से जल आता है।


         5. खास महल - दक्षिण से तीसरा मण्डप है खास महल। इसमें शाही कक्ष बने हैं। इनमें राजसी शयन-                   कक्ष, प्रार्थना-कक्ष, एक बरामदा और मुसम्मन बुर्ज बने हैं। इस बुर्ज से बादशाह जनता को दर्शन देते थे।


6. दीवान-ए-ख़ास - अगला मण्डप है दीवान-ए-खास, जो राजा का मुक्तहस्त से सुसज्जित निजी सभा कक्ष               था। यह सचिवीय एवं मंत्रीमण्डल तथा सभासदों से बैठकों के काम आता थाइस म्ण्डप में पीट्रा ड्यूरा से               पुष्पीय आकृति से मण्डित स्तंभ बने हैं। इनमें सुवर्ण पर्त भी मढी है, तथा बहुमूल्य रत्न जडे़ हैं। इसकी                   मूल छत को रोगन की गई काष्ठ निर्मित छत से बदल दिया गया है। इसमें अब रजत पर सुवर्ण मण्डन                 किया गया है। अगला मण्डप है, हमाम, जो को राजसी स्नानागार था, एवं तुर्की शैली में बना है। इसमें                   संगमर्मर में मुगल अलंकरण एवं रंगीन पाषाण भी जडे़ हैं।

lal kila history in hindi
दीवाने-ए-आम


.     7. मोती मस्जिद -हमाम के पश्चिम में मोती मस्जिद बनी है। यह सन् 1659 में, बाद में बनाई गई थी, जो औरंगजे़ब की निजी मस्जिद थी। यह एक छोटी तीन गुम्बद वाली, तराशे हुए श्वेत संगमर्मर से निर्मित है। इसका मुख्य फलक तीन मेहराबों से युक्त है, एवं आंगन में उतरता है।जहा फुलो का मेला है


    8. हयात बख़्श बाग - इसके उत्तर में एक वृहत औपचारिक उद्यान है जिसे हयात बख्श बाग कहते हैं। इसका अर्थ है जीवन दायी उद्यान। यह दो कुल्याओं द्वारा द्विभाजित है। एक मण्डप उत्तर दक्षिण कुल्या के दोनों छोरों पर स्थित हैं एवं एक तीसरा बाद में अंतिम मुगल सम्राट बहादुर शाह जफर द्वारा 1842 बनवाया गया था। यह दोनों कुल्याओं के मिलन स्थल के केन्द्र में बना है।
http://www.shopgoose.com/


        लाल किले के बारे में कुछ रोचक बाते / Facts About Red Fort

1. लाल किला असल में सफ़ेद है। –
जी हां, इसे कहते तो लाल किला है लेकिन असल में यह लाल रंग का नही बना है। आर्कियोलॉजिकल के भारतीय सर्वे के अनुसार किले के कुछ भाग निम्बू (लाइम) पत्थरो से बने हुए है। लेकिन जब सफ़ेद पत्थर ख़राब होने लगे थे तब उन्हें ब्रिटिशो ने लाल रंग दिया था।

2. किले की सीमान्त दीवारों पर उसका नाम है। –
किले की ऊँची सीमान्त दीवारे होना मतलब किले की ज्यादा से ज्यादा सुरक्षित करना। जबसे लाल किले को लाल रंग दिया गया है तभी से ब्रिटिशो ने इसका नाम रेड फोर्ट रखा और स्थानिक लोगो ने इसका रूपांतर करके किले का नाम लाल किला रखा।

3. लाल किले को कभी किला-ए-मुबारक भी कहा जाता था। –
जैसा की हम सभी जानते है की वास्तविक रूप से Red Fort को किला-ए-मुबारक कहा जाता था। इस किले को तब बनाया गया था जब शाह जहाँ ने अपनी राजधानी आगरा को दिल्ली स्थानांतरित करने का निर्णय लिया था।

4. लाल किले / Red Fort को बनाने में पुरे 10 साल लगे। –
हम सभी जानते है की उस समय में निर्माणकार्य करने के लिये पर्याप्त साधन और सुविधाये उपलब्ध नही थी। लेकिन उस समय के बेहतरीन आर्किटेक्ट उस्ताद हामिद और उस्ताद अहमद ने इसके निर्माण की शुरुवात 1638 में की थी और इसका निर्माणकार्य 1648 में पूरा हुआ था, मतलब इसे बनने में पुरे 10 साल लगे।

5. कोहिनूर हीरा इसके फर्नीचर का ही एक भाग है। –
कोहिनूर हीरा शाह जहाँ के ताज का ही एक भाग था। जो ठोस सोने से बना हुआ था और जिसपर बहुमूल्य धातुए लगी हुई थी, उस ताज को पहनकर शाह जहाँ अपने दीवान-ए-खास में बैठते थे, कहा जाता है की कोहिनूर हीरा विश्व का सबसे कीमती हीरा है।

6. Lal Kila के मुख्य प्रवेश द्वार को लाहौर गेट कहा जाता है। –
लाल किले के दो प्रवेश द्वार है – दिल्ली गेट और लाहौर गेट। शाह जहाँ के लाहौर के प्रति आकर्षण के कारण उसे लाहौर गेट का नाम दिया गया। क्योकि लोगो का सबसे ज्यादा आकर्षण भारत-पकिस्तान पर ही होता है।

7. किले में एक पानी का गेट भी है। –
किले में एक पानी का निकास द्वार भी है। वैसे देखा जाये तो वह एक नदी का तट ही है और नदी का नाम यमुना नदी है। इतने सालो में नदी में काफी बदलाव हुआ है लेकिन नदी का नाम नहीं बदला।

8. लाल किला अष्टकोणीय आकार में बना हुआ है। –
बर्ड ऑय व्यू (Bird Eye View) को ध्यान में रखते हुए Red Fort को भी अष्टकोणीय आकार में बनाया गया।

9. समुचित रूप से इसे रंग महल भी कहा जा सकता है। –
रंग महल – जिसका अर्थ रंगों के महल से है – असल में शासन की पत्नी और दासियों का निवास स्थान था। सम्राट काफी लकी था क्योकि वह खास महल के दाये में ही रहता था, ताकि वह आसानी से अपनी रानियों के साथ रात्रिभोज कर सके।

10. बहादुर शाह को उन्ही के Lal Kila में ब्रिटिशो ने बंदी बनाया था। –
ब्रिटिशो से परास्त होने के बाद बहादुर शाह को ब्रिटिशो ने उन्ही के महल में कैदी बना लिया था और दोषी पाए जाने के बाद उन्हें दीवान-ए-खास से निकलकर रंगून भेज दिया गया था।

11. पहले स्वतंत्रता दिवस से, हर साल 15 अगस्त को प्रधानमंत्री Red Fort पर ध्वज लहराकर भाषण देते है। –
हर साल स्वतंत्रता दिवस को भारत के प्रधानमंत्री Red Fort पर तिरंगा लहराकर भाषण भी देते है। और यह परंपरा तभी से चलती आ रही है।

12. ब्रिटिशो ने किले को अवस्त्र कर दिया था। –
मुगल शासन के ख़त्म होते ही ब्रिटिशो ने Lal Kila को काफी क्षति पहोचाई, और किले पर ब्रिटिशो का अधिकार हो गया था। ब्रिटिशो ने किले में स्थापित बहुमूल्य रत्नों और धातुओ की लूट की और फर्नीचर को भी ध्वस्त कर दिया। इसीलिये कहा जाता है की बहुमूल्य लाल किले को ब्रिटिशो ने अवस्त्र कर दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.